Välj ditt språk / choose your language

सबसे अधिक एक्यूप्रेशर के पाइंट
तीन आमाप, मध्यम, बड़ा और अधिक बड़ा

परीक्षण में सबसे अच्छा!
यंत्र मैट को, स्वीडिश पत्रिका ‘क्रॉप एवं सजाल’
(‘शरीर एवं आत्मा’) के द्वारा सर्वोत्कृष्ट के रूप में चुना गया था|

प्रतीकात्मकता और इतिहास

यंत्र मैट सब के लिए है, अधिक कल्याण और सर्वोत्कृष्ट स्वास्थ्य के लिए है| यंत्र मैट का प्रयोग करने के लिए, आपको योग का गुरू होने या एक्यूप्रेशर में विशेष रुचि रखने की कोई आवश्यकता नहीं है| जब आप यंत्र मैट के फूलों के प्लास्टिक से बने संपर्क पाइंट पर लेटेंगे और अपना वजन एक समान रूप से उन पर डालेंगे तो आपको कुछ समय के लिए दर्द का अनुभव होगा| दर्द कम हो जाता है एवं एंडोरफिन और ऑक्सीटोसिन बहने लगते हैं| शरीर के निजी दर्द-कम करने वाले और खुशी का एहसास देने वाले हार्मोन, आपकी शरीर में तेजी से बहने लगते हैं| नियमित रूप से यंत्र मैट का प्रयोग करने के हेतु बहुत सारे उपयोक्ताओं ने सुखद और पुनःताजा करने वाले प्रभावों का अनुभव किया है|

 

एक्यूप्रेशर
“ एक्यूप्रेशर की उपचारात्मक कला की जड़ें हजारों वर्ष पहले जाती है, और इसकी जड़ें पूर्वी औषधि में स्थित हैं| पौराणिक चीनी औषधि के अनुसार शरीर के बारह मेरीडियन (मध्याह्न रेखा) में 365 एक्यूप्रेशर के पाइंट हैं| (...) इन दाब के पाइंट को उत्तेजित कर के, चिकित्सक कहते हैं कि, वे, शारीरिक दृष्टि से लैकटिक एसिड एवं कारबन मोनॉक्साइड को हटा सकते हैं और उसे पतला बना सकते हैं जिसमें यह प्रवृत्ती होती है कि वह जाकर मांसपेशियों के ऊतकों में जम जाए| उनका यह मानना है कि, इसी के कारण, मांसपेशियों में अकड़न आती है और रक्त के बहाव में सामान्य मंदी आती है| इसका प्रभाव फिर जाकर नसों और रक्त एवं लसीका की नलिकाओं पर पड़ता है, और फिर इनका प्रभाव हड्डियों के ढांचे पर और अन्दरूनी अंगो पर पड़ता है|”
“सूपर थेरपीज,” रिचटर्ज, जेन ऐलेक्सैंडर  

 

यंत्र का प्रतीक
यंत्र मैट के पीछे एक प्रतीक है जो मूल रूप से भारतीय है| योग में प्रायः प्रयोग किया जाने वाला प्रतीक चिन्ह, एक यंत्र, एक ज्यामितीय प्रतीक जिसका आप ध्यान करने के लिए प्रयोग कर सकते हैं| इसका मूल शब्द संस्कृत के यान  शब्द से आता है, जिसका अर्थ है “रूप” और त्र  का अर्थ है “मुक्त”|     
आप यंत्र मैट को इस तरह टांग सकते हैं जिससे कि उसके पीछे का हिस्सा आपकी दृष्टि की रेखा पर हो| ध्यान करते समय उस पर अपनी नजर जमाए रखें और उस यंत्र से अपने मन को प्रोत्साहित करें| अपनी दृष्टि और चिंतन को उस यंत्र में विलीन हो जाने दें| अपने विचारों को बहने दें| अपने विचारों को जमने न दें, उसके बदले उन्हें गायब हो जाने दें|    
अपने मन को थोड़े से समय के लिए आराम दें|

 

यंत्र मैट के रंग

इन रंगों का एक प्रतीकात्मक अर्थ है आप स्वयं चुन सकते हैं कि आप इन रंगों को अपने यंत्र मैट के चयन को किस प्रकार प्रभावित करने देंगे| क्रोमाटॉलोजी (रंग विज्ञान) के अनुसार, कुछ प्रतीकात्मक अर्थ होते हैं जिनके साथ लोग सहमत होते हैं| यंत्र मैट, बैंगनी और पीत-हरित रंगों में आता है| बैंगनी रंग, ध्यान करने, आध्यात्मिकता, अंतर्बोध, एवं स्पष्टता का प्रतीक है| हरा रंग, ताल-मेल, संतुलन, नवीकरण और उपचारात्मकता का प्रतीक है|